पाकिस्तान | नम्रता चंदानी की दुष्कर्म के बाद हुई थी हत्या

Paakistaan men vishvavidyaalay ke chhaatraavaas ke apane kamare men sitnbar men rahasyamayee paristhitiyon men mrit milee ek hindoo meḍikal chhaatraa kee antim ŏṭopsee riporṭ men khulaasaa huaa hai ki usakee hatyaa se pahale usake saath duṣkarm kiyaa gayaa thaa.
पाकिस्तान में विश्वविद्यालय के छात्रावास के अपने कमरे में सितंबर में रहस्यमयी परिस्थितियों में मृत मिली एक हिंदू मेडिकल छात्रा की अंतिम ऑटोप्सी रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उसकी हत्या से पहले उसके साथ दुष्कर्म किया गया था।
Nimritaa chaandanee kaa shav 16 sitnbar ko larakaanaa sthit shaheed mohataramaa benajeer bhuṭṭo meḍaikal yoonivarsiṭee (SBBMU) ke chhaatraavaas men unake kamare men seeling pnkhe se laṭakataa paayaa gayaa thaa. Vah vishvavidyaalay ke baichalar ŏf ḍaenṭal sarjaree (BDS) prograam kee antim varṣ chhaatraa theen. Antim ŏṭopsee riporṭ larakaanaa ke chndakaa meḍaikal kŏlej hŏspiṭal (CMCH) dvaaraa jaaree kee ga_ii. CMCH veemen meḍaiko-leegal ŏfisar ḍaŏ. Amritaa ke anusaar, nimritaa kee maut dam ghuṭane se huii thee. Vaheen ek DNA pareekṣaṇ ne mritakaa ke shareer men puruṣ DNA hone kee puṣṭi kee. Mritakaa ke kapadon par veerya ke avasheṣ mile the. Isake saath hee peeditaa ke saath duṣkarm hone kee bhee puṣṭi huii hai. Is ŏṭopsee riporṭ ne mritakaa ke bhaa_ii vishaal ke daavon ko sahee ṭhaharaayaa. Vishaal ne apanee bahan kee hatyaa hone kee baat kahee thee. Usake anusaar nimritaa na to avasaadagrast thee n hee apane jeevan se pareshaan thee, jisase vah aatmahatyaa jaisaa kadam uṭhaa_e. Ghaṭanaa ko lekar bade paimaane par ho rahe virodh-pradarshan ke baad sindh sarakaar ne is maamale kee nyaayik jaanch ke aadesh die the. Sindh haa_iikorṭ ke nirdesh par larakaanaa jilaa aur satr nyaayaadheeshon kee nigaraanee men hatyaa kee aage kee jaanch jaaree hai.
निमृता चांदनी का शव 16 सितंबर को लरकाना स्थित शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी (एसबीबीएमयू) के छात्रावास में उनके कमरे में सीलिंग पंखे से लटकता पाया गया था।
वह विश्वविद्यालय के बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी (बीडीएस) प्रोग्राम की अंतिम वर्ष छात्रा थीं। अंतिम ऑटोप्सी रिपोर्ट लरकाना के चंदका मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (सीएमसीएच) द्वारा जारी की गई। सीएमसीएच वीमेन मेडिको-लीगल ऑफिसर डॉ. अमृता के अनुसार, निमृता की मौत दम घुटने से हुई थी।
वहीं एक डीएनए परीक्षण ने मृतका के शरीर में पुरुष डीएनए होने की पुष्टि की। मृतका के कपड़ों पर वीर्य के अवशेष मिले थे। इसके साथ ही पीड़िता के साथ दुष्कर्म होने की भी पुष्टि हुई है। इस ऑटोप्सी रिपोर्ट ने मृतका के भाई विशाल के दावों को सही ठहराया। विशाल ने अपनी बहन की हत्या होने की बात कही थी।
उसके अनुसार निमृता न तो अवसादग्रस्त थी न ही अपने जीवन से परेशान थी, जिससे वह आत्महत्या जैसा कदम उठाए। घटना को लेकर बड़े पैमाने पर हो रहे विरोध-प्रदर्शन के बाद सिंध सरकार ने इस मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए थे। सिंध हाईकोर्ट (एसएचसी) के निर्देश पर लरकाना जिला और सत्र न्यायाधीशों की निगरानी में हत्या की आगे की जांच जारी है।